मुख्तार अंसारी सहित उनके चार सहयोगियों के विरुद्ध एक और धोखाधड़ी का मामला दर्ज

गाजीपुर ।  सदर विधायक मुख्तार अंसारी व उनके संलिप्त लोगों पर लगातार पुलिस प्रशासन का शिकंजा कसता जा रहा है। अभी एंंबुलेंस प्रकरण का पटाक्षेप भी नहीं हुआ कि मुख्तार अंसारी सहित उनके चार सहयोगियों के विरुद्ध एक और धोखाधड़ी का मामला सरायलखनसी थाने में दर्ज कराया गया है। आरोप है कि बिना विद्यालय बनवाएं ही इन लोगों ने विधायक निधि का 25 लाख रुपये न सिर्फ हड़प लिया बल्कि प्रधान रहते हुए आरोपितों ने ग्राम समाज की भूमि को फर्जी रूप से कृषि आवंटन भी करा लिया।  जिन लोगों पर एफआइआर दर्ज कराई गई है, उसमें सरवां गांव निवासी आनंद यादव पुत्र बैजनाथ यादव, बैजनाथ यादव पुत्र खुद्​दी यादव, बैजनाथ की पत्नी, संजय सागर पुत्र चंद्रदेव शामिल हैं। इसके अलावा सदर विधायक मुख्तार अंसारी को भी नामजद किया गया है।

आरोप है कि इन लोगों ने फर्जी दस्तावेज तैयार करके गुरु जगदीश सिंह बैजनाथ पहलवान उमा विद्यालय सरवां के नाम पर आराजी सं. 1109 रकबा 0.064 हेक्टेयर आराजी सं.-1449 रकबा 0.196हे. पर विधायक मुख्तार अंसारी मऊ की विधायक निधि से वर्ष 2006-2007 से वर्ष 2017-2018 में 15 लाख रुपये बिना विद्यालय बनवाए ही प्राप्त कर लिया है। यही नहीं बैजनाथ यादव द्वारा स्वयं प्रधान रहते हुए अपनी पत्नी के नाम से अवैध तरीके से प्रस्ताव पारित कर ग्राम समाज की भूमि को कृषि हेतु आवंटन करा लिया गया है। इन सभी मामलों में पुलिस ने मुकदमा अपराध संख्या 185/2021 धारा 419, 420, 467, 468, 471, 120बी के तहत कार्रवाई की है। बांदा जेल में बंद मुख्‍तार अंसारी इस समय कोरोना से संक्रमित है। लिहाजा उसके खिलाफ चल रही सुनवायी में भी अब बीमारी की वजह से मामला और लंबित होने की उम्‍मीद है। उस पर मऊ जिले में दर्ज यह नया मामला अब चर्चा में है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button